Search Engine Optimization (SEO) क्या है?

5
122
Search Engine Optimization (SEO) क्या है
Search Engine Optimization (SEO) क्या है

Search engine optimization (SEO) क्या है?-IN hindi




Search engine optimization (SEO)क्या है और यह ब्लॉग के लिए क्यूँ जरुरी है? ये सवाल अक्सर बहुत नए ब्लॉगर्स को बहुत परेशान करता है। आज के इस डिजिटल युग में अगर आपको लोगों के सामने आना है तो ऑनलाइन ही वह एकमात्र जरिया है जहां आप एक साथ करोड़ों लोगों के सामने उपस्तिथ हो सकते हैं।

यहाँ चाहे तो आप स्वयं वीडियो के माध्यम से उपस्तिथ हो सकते हैं या फिर अपनी सामग्री के द्वारा लोगों तक अपनी बात पंहुचा सकते हैं। लेकिन ऐसा करने के लिए आप Search engine optimization के पहले पन्नों में आते होंगे क्यूंकि यही वे पृष्ठ हैं जिन्हें आगंतुक बहुत पसंद करते हैं और विश्वास भी करते हैं।

लेकिन यहाँ तक पहुँचना इतना आसान काम नहीं है क्यूंकि इसके लिए आपको अपने लेख का सही ढंग से स्क्रिप्ट करना होगा। मतलब की उन्हें सही तरीके से अनुकूलित करना होगा जिससे वह सर्च इंजन में रैंक संभव हो सके। और इसकी प्रक्रिया को ही Search engine optimization कहते हैं। वहीँ आज के इस लेख में हम Search engine optimization करते हैं (हिंदी में SEO क्या है) और कैसे करे के विषय में जानकारी प्राप्त करेंगे।

What is Search engine optimization

यूँ कहे तो ब्लॉगिंग की जान है SEO। ऐसा इसलिए क्यूंकि आप चाहे तो भी बहुत अच्छा लेख लिख लें अगर आपके लेख ठीक तरीके से रैंक नहीं हुआ है तो उसमें यातायात आने की संभावनाएं न के बराबर होती हैं। ऐसे में लेखकों का सारा मेहनत पानी में चला जाता है।




इसलिए यदि आप ब्लॉगिंग को लेकर गंभीर हैं तो तब आपको Search engine optimization tutorial के विषय में जानकारी जरूर रखनी चाहिए। ऐसा करने से ये बाद में आपके बहुत काम में आने वाले हैं। कीवर्ड का समान कोई नियम नहीं हैं, लेकिन ये कुछ Google एल्गोरिदम के ऊपर आधारित हैं और वह निरंतर चालू रहता है।

एक बात का जरुर ध्यान दें की अगर कोई आपको कहे की वो एक बड़ा Search engine optimization एक्सपर्ट हिंदी में है तो उसे कभी यकीन न करें क्यूंकि आजतक कोई भी Search engine optimization पर mastery नहीं कर पाया है।

ये चीज़ ही ऐसी है और समय के साथ साथ और आवश्यकता के हिसाब से ये मोड़ रहता है। लेकिन फिर भी Google SEO गाइड के कुछ फंडामेंटल हैं, जो हमेशा समान होते हैं। इसलिए ये जरुरी है की ब्लॉगर हमेशा खुदको नई कीवर्ड तकनीक से अपडेट रहें।

इससे आपको बाज़ार में चल रहे रुझानों के बारे में पता चल जाएगा कि आप भी अपने लेखों में जरुरी बदलाव ला सकते हैं जो की बाद में आपको रैंक करने में मदद करेंगी।

What is Search engine optimization (SEO) in Hindi

SEO या Search engine optimization एक ऐसी तकनीक है, जिससे हम अपने पेज कोSearch engine मे टॉप में लाते है। सर्च इंजन क्या है ये हम सभी को पता है। Google पूरी दुनिया का सबसे लोकप्रिय खोज इंजन है इसके अलावा बिंग, याहू जैसे और भी खोज इंजन मौजूद है। एसईओ के मदद से हम अपने ब्लॉग को सभी Search engine पर नंबर 1 स्थिति पर रख सकते हैं।

जैसे मान लीजिये हम Google में जाकर कुछ भी कीवर्ड टाइप कर सर्च करते हैं तो उस कीवर्ड से संबंधित जितने भी कंटेंट होते हैं जो आपको Google दिखा रहा है। ये सामग्री जो हमे नज़र आती हैं वो सभी अलग अलग ब्लॉग से आती हैं।

जो परिणाम हमे सबसे ऊपर दिखाई देता है वह Google में नंबर 1 Rank पर है, केवल वही सबसे ऊपर अपनी जगह बनाये रखता है। No.1 पर है का मतलब है कि ब्लॉग में SEO का बहुत अच्छा तरीका से इस्तेमाल किया गया है जिससे की उसमे ज्यादा विजिटर आते हैं और इसी कारण से वो ब्लॉग मसहुर हो गया है।




SEO हमारे ब्लॉग को Google में नंबर 1 रैंक पर लाने के लिए सहायता करता है। यह एक तकनीक है जो आपकी वेबसाइट को Search engine के खोज परिणाम पर सबसे ऊपर रख देमे आगंतुकों के नंबर को बढाती है।

आपकी वेबसाइट खोज परिणाम में सबसे ऊपर हो तो इंटरनेट उपयोगकर्ता सबसे पहले आपकी साइट में ही जाएँगे जिससे आपकी साइट में बहुत अधिक ट्रैफ़िक होने की संभावना बढ़ जाती है और आपकी आय भी अच्छी होने लगती है। अपनी वेबसाइट पे ऑर्गेनिक ट्रैफ़िक बढ़ाने के लिए एसईओ का इस्तेमाल करना बहुत जरुरी है।

SEO का फुल फॉर्म क्या है?

SEO का फुल फॉर्म “Search engine optimization” है।

Keyword का हिंदी रूपांतर “Search engine optimization“।

SEO ब्लॉग के लिए जरुरी क्यों है?

आपने जान लिया की SEO क्या है, चलिए अब जानते हैं की ये ब्लॉग के लिए क्यूँ जरुरी है। अपनी वेबसाइट को लोगों तक पंहुचाने के लिए हम एसईओ का इस्तेमाल करते हैं।

मान लीजिये मैंने एक WEBSITE बना ली थीमे की अच्छी अच्छी High quality वाली सामग्री भी प्रकाशित कर दी थी लेकिन अगर मैंने SEO का इस्तेमाल नहीं किया तो मेरा वेबसाइट लोगों तक नहीं पहुंचता है और मेरी वेबसाइट बनाने का भी कोई क्रेडिट नहीं होगा।

अगर हम SEO का उपयोग नहीं करेंगे तो जब भी कोई उपयोगकर्ता कोई keyword search नहीं करेगा तो आपकी वेबसाइट में उस कीवर्ड से संबंधित अगर कोई सामग्री मौजूद नहीं है तो उपयोगकर्ता आपकी वेबसाइट को एक्सेस नहीं कर रहा है पायेगा क्यूंकि खोज इंजन हमारी साइट को ढूंढ नहीं पायेगा ना ही हमारे वेबसाइट के content को अपने databaseपर स्टोर कर रहा है, जिससे आपकी वेबसाइट पर traffic होना बहुत मुश्किल हो जाएगा।

SEO को समझना बहुत मुश्किल नहीं है अगर आपने इसे सिखाया है तो अपने ब्लॉग को बहुत ही बेहतर बना सकते हैं और उसके मूल्य Search engine में बढ़ा सकते हैं।

SEO को पढ़ाने के बाद जब उसका उपयोग अपने ब्लॉग के लिए करते हैं तो आपको उसका परिणाम तुरंत नहीं मिलेगा। इसके लिए आपको धैर्य बनाए रखने के लिए अपना काम करना होगा। क्यूंकि सब्र का फल मीठा होता है और आपकी मेहनत का रंग आपको जरुर आता है।

जैसे की मैंने पहले ही कह दिया है की कैसे रैंकिंग के लिए और यातायात के लिए SEO करना क्यूँ जरुरी बन जाता है। चलिए आप Search engine optimization के महत्व के विषय में और अधिक जानते हैं




1.ज्यादातर उपयोगकर्ता इंटरनेट में खोज इंजन का इस्तमाल अपने सवालों के जवाब पाने के लिए करते हैं। ऐसे में वे खोज इंजन द्वारा दिखाए गए शीर्ष परिणाम को ही बहुत ध्यान देते हैं। ऐसे में यदि आप भी लोगों के सामने आते हैं तो आप भी SEO की मदद करेंगे,ब्लॉग को रैंक करने के लिए।Search engine optimization Kya Hai.

2. SEO केवल Search engine के लिए नहीं है बल्कि अच्छे एसईओ प्रथाओं के होने से ये उपयोगकर्ता अनुभव को बढ़ाने में मदद करता है और आपकी वेबसाइट के प्रयोज्य को भी बढ़ाता है।
3. उपयोगकर्ता ज्यादातर शीर्ष परिणाम को ही भरोसा करते हैं और इससे उस वेबसाइट का विश्वास बढ़ जाता है। इसलिए SEO के सन्दर्भ में जानना बहुत जरुरी होता है।
4. SEO आपकी साइट के सामाजिक प्रचार के लिए भी बहुत जरुरी होता है। क्यूंकि जो लोग आपकी साइट को Google की तरह खोज इंजन में देखते हैं तो वो ज्यादातर उन्हें सोशल मीडिया जैसे की फेसबुक, ट्विटर, Google+ में शेयर जरूर करें।
5. SEO किसी भी साइट के यातायात को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है।
6. SEO आपको किसी भी प्रतियोगिता में जरुर आगे रहने में मदद करता है। उदहारण के लिए अगर दो वेबसाइटों समान चीजें बेच रही हैं, तो जो वेबसाइट SEO अनुकूलित होती है वह उन ग्राहकों के बारे में और खींचती हैं और उनकी बिक्री भी बढ़ जाती है वहीँ दूसरी समान नहीं कर पाती हैं।

Types of SEO in Hindi

SEO दो प्रकार के होते हैं एक है On page SEO और दूसरा है Off page SEO। ये दोने का काम बिलकुल अलग है चलिए हम इनके बारे में भी जान लेते हैं।

On Page SEO
 Off Page SEO
Local SEO

1. On Page SEO

ON PAGE SEO का काम आपके ब्लॉग में होता है। इसका मतलब है की अपनी वेबसाइट को ठीक तरह से डिजाइन करना जो एसईओ अनुकूल हो।

एसईओ के नियम website अपनी वेबसाइट में टेम्पलेट का उपयोग करने का पालन करें। अच्छी सामग्री लिखें और उन लोगों के अच्छे कीवर्ड का उपयोग करें जो खोज इंजन में सबसे अधिक खोज जाता है।




keyword का उपयोग पृष्ठ में सही जगह करना जैसे Title, Meta description, content में keyword का उपयोग करना इससे Google को जानने में आसानी होती है की आपकी Stuff Whack ऊपर लिखी गई है और जल्दी आपकी वेबसाइट को Google पेज पर रैंक करने में मदद करता है। जिससे आपके ब्लॉग की ट्रैफ़िक बढती है।

On Page SEO कैसे करे

यहाँ पर हम कुछ ऐसी तकनीकों के बारे में जानेंगे जिनकी मदद से हम अपने ब्लॉग या वेबसाइट को ऑन पेज एसईओ अच्छे तरीके से कर सकते हैं।

1.Website Speed

वेबसाइट की गति एक बहुत ही महत्वपूर्ण कड़ी है एसईओ के दृष्टी से। एक सर्वेक्षण से पाया गया है कि किसी को भी आगंतुक से ज्यादा 5 से 6 सेकंड में ही किसी ब्लॉग या वेबसाइट पर रहता है।

अगर वह इसी समय के भीतर नहीं खुला तो वह उसे दुसरे में छोड़ कर माइग्रेट हो जाता है। और ये बात Google के लिए भीसेजु होती है क्यूंकि अगर आपका ब्लॉग जल्दी नहीं खुला तो एक Negative signal Google के पास पहुँच जाता है की ये ब्लॉग उतनी अच्छी तरह से नहीं है या ये बहुत तेज़ नहीं है। तो संभव है कि आपकी साइट की स्पीड अच्छी रहे।

यहाँ मैंने कुछ महत्वपूर्ण सुझाव दिए हैं जिससे आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट की Speed up कर सकते हैं:

Simple और attractive theme का इस्तमाल करें
ज्यादा plugins का इस्तेमाल न करें
Image का size कम-से-कम रखें
W3 Total cache and WP super cache plugins का use करें

2. Website की Navigation

अपने ब्लॉग या वेबसाइट में इधर उधर जाना आसान होना चाहिए जिससे को भी आगंतुक और Google को एक पृष्ठ से दूसरे पृष्ठ में जाने में कोई परेशानी नहीं होगी।

3. Title Tag

अपनी वेबसाइट में Title Tag बहुत ही अच्छा बनाए जिससे कोइ भी आगंतुक उसे पढ़े तो उसे जल्द से जल्द आपके Title पर क्लिक कर दे इससे आपका CTR भी बढ़ जाएगा।

कैसे बनायें अच्छे Title Tag : – अपने Title  में 65 शब्द से ज्यादा शब्द का इस्तमाल न करें क्यूंकि Google 65 शब्दों के बाद Google खोजों में Title Tag  शो नहीं करता है।

4. Post का URL कैसे लिखें

हमेशा अपने पोस्ट का url आप जितना सरल और छोटा हो सके उतना ही रखें।




5. Internal Link

ये अपने पोस्ट को रैंक करने के लिए एक बेहतरीन तरीका है। इससे आप अपने संबंधित पेज को एक दुसरे के साथ इंटरलिंक कर रहे हैं। इससे आपके सभी इंटरलिंक किए गए पृष्ठ आसानी से रैंक हो सकते हैं।

6. Alt Tag

अपनी वेबसाइट के पोस्ट में छवियों का इस्तमाल जरूर करें। क्यूंकि छवियों से आप बहुत सारा ट्रैफ़िक पा सकते हैं इसलिए छवि को इस्तमाल करते समय वहाँ ALT TAG लगाना ना भूले।

7. Content, Heading और keyword

सामग्री के बारे में जैसे की हम सभी जानते हैं की ये बहुत ही महत्वपूर्ण कड़ी है। क्यूंकि सामग्री को राजा भी कहा जाता है और अच्छी तरह से आपकी सामग्री उतने अच्छी साइट की वैल्यूएशन होगी। इसलिए कम से कम 800 शब्दों से अधिक शब्दों के सामग्री विषय।

इससे आप पूरी जानकारी भी दे सकते हैं और ये SEO के लिए बहुत अच्छा है। कभी भी किसी दुसरे से सामग्री न चुराएँ या कॉपी करें।

 

Heading: अपने अनुच्छेद के Heading के ख़ास रखने के लिए क्यूई के कारण SEO पर काफी प्रभाव पड़ता है। अनुच्छेद का Heading तो एच 1 होता है और इसके बाद के उप Heading को आप एच 2, एच 3 इत्यादि से नामांकित कर सकते हैं। इसके साथ आप कीवर्ड का जरूर ध्यान रखें।




Keyword : आप आर्टिकल लिखते हैं LSI Keyword का इस्तमाल करें। इससे आप लोगों की खोजों को आसानी से लिंक कर सकते हैं। इसके साथ महत्वपूर्ण Keyword को बोल्ड करते हैं जिससे Google और विज़िटर को यह पता चलता है कि ये जरुरी Keyword हैं और उनका ध्यान इसकी ओर आकर्षित होगा।

यह कुछ बिंदु ON PADE SEO के बारे में कुछ जानकरी थे।

2. Off-Page SEO

Off-Page SEO का सारा काम ब्लॉग के बाहार होता है। ऑफ पेज SEO में हमे अपने ब्लॉग का प्रचार करना होता है जैसे बहुत से लोकप्रिय ब्लॉग में, उनके लेख पर टिप्पणी करना और अपनी वेबसाइट का लिंक जमा करना इसे हम बैकलिंक कहते हैं। Backlink से वेबसाइट को बहुत ही वेडा होता है।

Social networking site जैसे Facebook, twitter, Quora पर अपनी वेबसाइट का आकर्षक पेज बनाइये और अपने अनुयायियों को बढ़ाइये इससे आपकी वेबसाइट में अधिक आगंतुकों के बढ़ने की संभावना होती है। Search engine optimization Kya Hai.

बड़े बड़े ब्लॉगों में जो बहुत ही मसहुर हैं, उनके ब्लॉग पर अतिथि पोस्ट करी जमा करें इससे उनके ब्लॉग पे आने वाले आगंतुक आपको जानने लगेंगे और आपकी वेबसाइट पर ट्रैफ़िक आने शुरू हो जाएंगे।

Off Page SEO कैसे करे

यहाँ पर आप लोगों को कुछ ऑफ पेज SEO टेक्नीक के बारे में बताऊंगा जो की आपके लिए बहुत उपयोगी साबित होगा आगे चलकर।

1. Search Engine Submission: अपनी वेबसाइट को सही तरीके से + सर्च इंजन में सबमिट करना चाहिए।

2. Bookmarking: अपना ब्लॉग या वेबसाइट का पेज और posting Bookmarking वेबसाइट को सबमिट करना चाहिए।

3.Directory Submission : अपने ब्लॉग या वेबसाइट को प्रचलित उच्च पीआर निर्देशिका में जमा करना चाहिए।

4.Social Media: अपने ब्लॉग या वेबसाइट का पेज और Social Media: पर Profile makingऔर अपनी वेबसाइट का लिंक जैसे Facebook, Google +, twitter, LinkedIn

5.Classified Submission: फ्री क्लासिफाइड वेबसाइट पर जाकर अपनी वेबसाइट का फ्री मे विज्ञापन करना चाहिए।

6. Q & A site: आप प्रश्न और उत्तर देने वाली वेबसाइट में जा सकते हैं, कोई भी प्रश्न कर सकते हैं और अपनी साइट का नंबर लगा सकते हैं।

7. Blog Commenting : अपने ब्लॉग से संबंधित ब्लॉग पर जाएं उनके पोस्ट में कमेंट कर सकते हैं और अपनी वेबसाइट का लिंक लगा सकते हैं (लिंक वही लगाना चाहिए जहां वेबसाइट लिखा होता है)

8. Pin : आप अपनी वेबसाइट के चित्र को पिन्टरेस्ट पर पोस्ट कर सकते हैं यह एक बहुत अच्छा तरीका है ट्रैफ़िक वृद्धि करने का।

9. Guest Post: आप अपनी वेबसाइट से संबंधित ब्लॉग पर जाकर अतिथि पोस्ट कर सकते हैं यह सबसे अच्छा है, जहां से आप करते हैं, लिंक ले सकते हैं और वह भी बिलकुल सही तरीके से।




3. Local SEO

अक्सर लोग यह पूछते है कि Local seo क्या होता है? मेरा मानें तो इसका जवाब वहीँ इसके सवाल में ही छुपा हुआ है।

Local seo को अगर विसलेसन करें तो ये दो शब्द का समाहार स्थानीय +SEO है। यानि की किसी स्थानीय दर्शक को ध्यान में रखकर किया जाने वाला एसईओ को Local seo कहा जाता है।

यह एक ऐसी तकनीक है जिसमें आपकी वेबसाइट या ब्लॉग को ख़ास तोर से अनुकूलित किया जाता है, जिससे कि खोज इंजन पर बेहतर रैंक एक स्थानीय दर्शकों के लिए होती है।

इसी तरह एक वेबसाइट की मदद से आप पुरे इंटरनेट को लक्ष्य कर सकते हैं, वहीँ अगर आप एक विशेष स्थानीयता को ही लक्षित करना है तो इसके लिए आपको Local seo का इस्तमाल करना होगा।




आपको अनुकूलन करने के लिए आपके शहर के नाम, वहीँ इसके पते के विवरण के साथ भी अनुकूलन करना होगा। वहीँ इसे स्पष्ट रूप से कहें तब आपको कुछ ऐसे तरीके से अपनी साइट को अनुकूलित करना होगा जिससे लोगों को केवल ऑनलाइन ही नहीं बल्कि ऑफ़लाइन में भी आपको पता चल सके।

Local SEO का उदहारण

यदि आपके पास एक स्थानीय व्यवसाय हो, जैसे की एक दुकान, जहाँ की लोगों का आपके यहाँ अक्सर जाना आना हो, तो ऐसे में यदि आप अपनी वेबसाइट को अनुकूलित करते हैं तो कुछ ऐसे की जिससे वास्तविक जीवन में भी लोग आपके पास आसानी से पहुँच सकें। ।

यदि यहां पर आप केवल अपने ही किसी स्थानीय क्षेत्र को ही लक्ष्य करते हैं और उसी गणना से आपकी साइट को seo अनुकूलित करते हैं। तब इस प्रकार के एसईओ को “स्थानीय एसईओ” कहा जाता है।

SEO के बारे में जानकारी

यदि आपका कोई ब्लॉग नहीं है या कोई वेबसाइट नहीं है तो फिर आप बुनियादी एसईओ के बारे में बहुत कुछ पता करेंगे की ये कैसे काम करता है। लेकिन मुझे पता है कि आप में से ऐसे बहुत सारे लोग हैं, जिनके बारे में बेसिक एसईओ के बारे में भी कुछ जानकारी नहीं है।

इसलिए मैंने सोचा की क्यूँ न आप लोगों को कुछ बहुत ही महत्वपूर्ण SEO शर्तें के बारे में जानकारी दे दी जानी चाहिए ताकि इसके बारे में आपको पता चल सके।

Backlink: इसका इनलिंक या बस लिंक भी कहा जाता है, यह एक हाइपरलिंक होता है किसी दुसरे वेबसाइट में जो की आपकी वेबसाइट के पक्ष में करता है। Backlinks seo के नज़रिए से बहुत ही महत्वपूर्ण होता है, क्यूंकि यह किसी भी वेबपेज की खोज रैंकिंग को सीधे प्रभावित करता है।
PageRank: PageRank एक एल्गोरिथ्म है, जिसे की Google इस्तमाल करता है यह अनुमान लगाने के लिए की वेब में कोन कोन सी रिश्तेदार महत्वपूर्ण पृष्ठ स्तिथ हैं।
Anchor text: कोई भी बैकलिंक का लंगर पाठ के प्रकार का पाठ होता है जो की क्लिक करने योग्य होता है। यदि आपका लंगर पाठ में आपका खोजशब्द मेह्जुद है तो यह आपको एसईओ के दृष्टी से काफी मदद करेगा।
Title Tag: शीर्षक टैग मुख्य रूप से किसी भी वेब पेज का शीर्षक होता है और यह बहुत ही महत्वपूर्ण कारक Google का खोज एल्गोरिदम है।
Meta Tag: शीर्षक टैग के समान ही मेटा टैग का इस्तमाल से खोज इंजन को यह पता चलता है की पृष्ठों में सामग्री में क्या स्तिथ है।
Search Algorithm:Google की खोज एल्गोरिदम की मदद से हम ये पता कर सकते हैं कि इंटरनेट के कोन सी वेब पेज प्रासंगिक हैं। लगभग 200 एल्गोरिदम काम करते हैं, Google के खोज एल्गोरिथम हैं।
SERP: इसका पूर्ण रूप खोज इंजन परिणाम पृष्ठ हैं। ये मूल रूप से उन्ही पृष्ठों को दिखाते हैं जो की Google खोज इंजन की गणना से प्रासंगिक हैं।
Keyword Density: यह कीवर्ड घनत्व से यह पता चलता है कि बहुत बार कोई भी कीवर्ड लेख में बहुत बार इस्तमाल की गयी हैं। खोजशब्द घनत्व SEO की दृष्टी से काफी महत्वपूर्ण है।Search engine optimization Kya Hai.
Keyword Stuffing: जैसे की मैंने पहले ही कहा की कीवर्ड घनत्व SEO की दृष्टी से काफी महत्वपूर्ण है, लेकिन अगर कोई कीवर्ड को आवश्यकता से ज्यादा इस्तमाल किया जाए तो उसे कीवर्ड स्टफिंग कहते हैं। ये नकारात्मक एसईओ कहलाता हैं क्यूंकि फिर भी आपके ब्लॉग पर ख़राब असर पड़ता है।
Robots.txt: यह बहुत कुछ नहीं बसता है एक फ़ाइल होती है, जिसे डोमेन के रूट में रखा जाता है। इसके इस्तमाल से खोज बोट्स को ये इंगित किया जाता है की वेबसाइट की संरचना कैसी है।
कार्बनिक और अकार्बनिक परिणाम क्या होते हैं?
SERP (Search engine result page) पर मुख्य रूप से दो तरह की लिस्टिंग होती है – Organic and inorganic

इसमें inorganic Indexing के साथ हमें Google को पैसे देने होते हैं। यानि के ये पेड होते हैं और इसमें पैसों का भुक्तान करना पड़ता है।




वहीँ Organic listings पूरी तरह से मुक्त होती है यानि की बिना पैसे के हम Google के शीर्ष पृष्ठ पर भी आ सकते हैं, लेकिन इसके लिए पहले आपको एसईओ करना होता है।

SEO हिंदी में

आप सब समझ ही गए होंगे के SEO क्या है (What is SEO in Hindi)। यदि आपका मन में इस लेख को लेकर कोई संदेह है या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होना चाहिए तो इसके लिए आप नीच टिप्पणी लिख सकते हैं।

आसानी से अब आप Keyword क्या होता है का जवाब बेझिझक दे सकते हैं। आपके इन्ही विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिलेगा।

अगर आपको मेरा यह लेख सर्च इंजन को ख़त्म करने की जानकारी हिंदी में अच्छा लगा हो या इससे आपको कुछ सिखने को मिला हो तो अपनी प्रसन्नता और उत्त्सुकता को दर्शाने के लिए पृष्ठ इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर साझा करें।




5 COMMENTS

  1. Take utrogestan 20mg, date for generic utrogestan

    Only this month we offer you our numerous special discounts that will save your budget

    BEST PRICE FOR Utrogestan

    The newest achievement in pharmacy! Enjoy the quality!

    Does Prozac have a generic? Also known by its generic name, fluoxetine, Prozac is a selective serotonin reuptake inhibitor (SSRI). Prozac first appeared in the U.S. in 1988 and it became one of the most widely prescribed antidepressants in the country. It remains popular, although newer drugs are now available, such as sertraline and citalopram.
    Why is progesterone given during pregnancy? The role of Progesterone in overall fertility health, is that it helps prepare the uterus for pregnancy. After ovulation occurs, the ovaries start to produce progesterone needed by the uterus. Progesterone causes the uterine lining or endometrium to thicken.
    Does Medicaid cover progesterone shots? Your health insurance or state Medicaid program may help pay for the shots. You may be able to get a generic form, or you can get brand name shots called Makena. In some states, you may be able to get a kind of 17P (called compounded) from special pharmacies.
    What is the brand name for progesterone? Progestin-Only Medicines Brand Name Generic Name Product Type Prometrium Micronized Progesterone Pill Provera Medroxyprogesterone Acetate Pill
    buy utrogestan oakland
    krefeld kaufen utrogestan in
    legally buy generic utrogestan
    canadian generic utrogestan online
    utrogestan worldwide buy
    utrogestan mail order pharmacy
    utrogestan order pharmacy florida
    order utrogestan no rx
    buy utrogestan 200 mg online
    generic for utrogestan reviews
    phuket kaufen utrogestan
    cheap india generic utrogestan
    cheap utrogestan yahoo answers
    average price home utrogestantions
    buy utrogestan brand online
    jakarta utrogestanan shop
    pills cvs pharmacy utrogestan
    lialda can take utrogestan
    order generic utrogestan uk
    shortage hormone replacement medicine
    price of utrogestan medicine
    cheap utrogestan overnight delivery
    oil retailers sell utrogestan
    disk price utrogestan
    hypnosis treat hormone replacement can
    buy utrogestan 20 mg
    buy canada in utrogestan
    utrogestan supplements buy
    utrogestan generic eckerd
    utrogestan no prescription needed
    utrogestan 37.5mg discounted
    buy utrogestan online cheap
    menopause mdi therapy
    backshop wien utrogestanu
    medicine malaysia hormone replacement
    victoza price utrogestan
    utrogestan okay take while breastfeeding
    buy utrogestan today
    mercadolibre comprar utrogestan por
    order utrogestan payment australia
    utrogestan for dogs price
    get rid of utrogestan in pills
    utrogestantion cost resale flat
    has anyone purchased utrogestan online
    utrogestan cost medication
    money order utrogestan store
    to order utrogestan
    order utrogestan pharmaceuticals
    purchase utrogestan mastercard
    Peter Maiden, whose agency created the popular NY Tough video, plans to release more uplifting homages. A single dad from Liverpool says he constantly feared for his life while working as a forklift truck driver at BM. The 38-year-old captured pallets falling off racks on camera at the retailers warehouse in Speke. An investigative team from the Organization for the Prohibition of Chemical Weapons accused the Syrian government of launching three chemical attacks on one village in 2017. England Women’s captain Steph Houghton has revealed that the entire Lionesses squad have donated to the PlayersTogether initiative in a bid to support the NHS. Mobile-only streaming service Quibi racked up more than 300,000 downloads on its launch day, industry site Sensor Tower said on Tuesday, as stay-at-home viewers lapped up its short films starring Hollywood A-listers. A NSW Police manhunt is underway for Vaughan Grimston, 30, who was reported missing from Cessnock Correctional Facility north of Sydney on Wednesday.
    http://sivabuilders.in/finding-new-buildings-in-the-dust-of-the-old/?unapproved=647&moderation-hash=f55cdca851e8ed22ee783c5a6ce1203b#comment-647
    https://callbuyrent.com/blog/%ed%84%b0%ed%82%a4-%eb%b6%80%eb%8f%99%ec%82%b0-%eb%b0%8f-%eb%b6%80%eb%8f%99%ec%82%b0-%ea%b4%80%eb%a0%a8-%ec%84%b8%ea%b8%88/?unapproved=7122&moderation-hash=26a7f84feea619c312dfb91fe6320a43#comment-7122
    http://1001medios.es/lateiki-la-nueva-isla-del-pacifico/?unapproved=197305&moderation-hash=9124ed82683c0c6a810e7bae69c02278#comment-197305
    http://www.pinknailsent.org/the-waiting-game/?unapproved=15885&moderation-hash=61191b08beb5480affd9cbf175738630#comment-15885

  2. […] हम Search Engine Optimization की उपेक्षा नहीं कर सकते SEO किसी भी Successful Blog की spine spine है SEO के बिना हम निष्क्रिय आय नहीं कर सकते खोज इंजन Visitors = Money मत भूलना। तो, सीखने SEO पर कुछ समय बिताने के लिए याद रखें यह एक त्वरित सुधार नहीं है आपके आगंतुकों को बढ़ावा देने में कुछ समय लगेगा।Search Engine Optimization () Kya Hai ? […]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

CommentLuv badge